तेनालीराम की चित्रकारी । Tenali Raman Stories Hindi

0
Tenali Raman Stories Hindi
Tenali Raman Stories Hindi

Tenali Raman Stories Hindi

Tenali Raman Stories Hindi :-दोस्तों उम्मीद है पिछले जितने सारे कहानिया हमने शेयर किये हैं वो सब अपने पढ़े होंगे। और आज का कहानी तेनाली रमन की अठवा कहानी है। अच्छा लगे तो कमेंट करके जरूर बताईयेगा।

तेनालीराम की चित्रकारी

राजा कृष्णदेव राय ने एक बहुत बड़ा महल बनवाया। उनकी इच्छा महल की दीवारों को चित्रकारी से सजाने की थी। एक प्रसिद्ध चित्रकार को यह काम सौंपा गया। साल भर बाद चित्रकारी का काम पूरा हो गया। राजा अपने आठ दिग्गजों एवं दरबारियों के साथ महल देखने गये।

चित्रकार ने बहुत अच्छी चित्रकारी की थी। राजा चित्रकार की चित्रकारी से बहुत प्रभावित हुए। उन्हें खुद पर गर्व हो रहा था कि उन्हें इतना कुशल चित्रकार मिला। तभी तेनालीराम ने एक चित्र राजा को दिखाया, जिसका एक अंग नहीं था। राजा आश्चर्यचकित हुए, परंतु उस कमी को अनदेखा करने के भाव से उन्होंने तेनाली से कहा, “तुम उस अंग की कल्पना करो, यही तो इस चित्रकारी की विशेषता है।” उत्तर सुनकर तेनालीराम को बड़ा आश्चर्य हुआ।

उसने सोचा, “ठीक है कि राजा ने प्रसिद्ध चित्रकार से चित्रकारी करवाई है, पर गलती को तो स्वीकार करना चाहिए।” उसने मन ही मन निश्चय किया कि वह राजा को यह बताकर ही रहेगा कि इंसान को सच हमेशा स्वीकार करना चाहिए, चाहे वह कितना भी कड़वा क्यों न हो।

Tenali Raman Stories Hindi

कुछ दिनों बाद तेनालीराम ने दरबार में जाकर राजा से कहा, “आपके महल से प्रेरित होकर मैंने भी चित्रकारी की है और उसकी प्रदर्शनी लगाई है। कृपया मेरी प्रदर्शनी में चलकर मेरा मान बढ़ायें।” राजा तेनालीराम के कहने पर प्रदर्शनी देखने गये और वहां जो कुछ उन्होंने देखा, उसे देखकर वे आश्चर्यचकित रह गए।

तेनालीराम ने अनोखी पेंटिंग चारों ओर लगा रखी थीं। किसी चित्र में हाथ था, तो किसी में पैर……राजा ने पूछा, “माफ करना, मुझे यह चित्रकारी अच्छी नहीं लगी। तुमने अलग-अलग अंग बनाये हैं, पूरा शरीर किधर है?” तेनाली मुस्कराकर बोला, “महाराज, लोगों को उस अंग की कल्पना स्वयं करनी चाहिए।

यही तो इन चित्रों की सुंदरता है।” राजा को अपनी कही बात याद आ गई। वह तेनालीराम का इशारा समझ गये और शर्मिंदा हो गए।

ये भी जरूर पढ़े:-

1.जादुई छाता । Jadui Kahaniya । जादुई कहानियां

2.राजा विक्रमादित्य और तांत्रिक । Vikram Aur Betaal

3.अनोखा वैवाहिक निमंत्रण । Short Story of Tenali Raman

4.स्वर्ग की कुंजी । Tenali Raman Short Stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here