Swami Vivekananda Quotes । विवेकानंद के अनमोल विचार

0
swami vivekananda quotes

29+ Swami Vivekananda Quotes

Swami Vivekananda Quotes :-स्वामी विवेकानंद ने भारत में उस समय अवतार लिया जब यहाँ हिंदू धर्म के अस्तित्व पर संकट के बादल मँडरा रहे थे। पंडित-पुरोहितों ने हिंदू धर्म को घोर आंडबरवादी और अंधविश्वासपूर्ण बना दिया था। ऐसे में स्वामी विवेकानंद ने हिंदू धर्म को एक पूर्ण पहचान प्रदान की। इसके पहले हिंदू धर्म विभिन्न छोटे-छोटे संप्रदायों में बँटा हुआ था। “Swami Vivekananda Quotes

तीस वर्ष की आयु में स्वामी विवेकानंद ने शिकागो, अमेरिका में विश्व धर्म संसद में हिंदू धर्म का प्रतिनिधित्व किया और इसे सार्वभौमिक पहचान दिलवाई। गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर ने एक बार कहा था, “यदि आप भारत को जानना चाहते हैं, तो विवेकानंद को पढि़ए। उनमें आप सबकुछ सकारात्मक ही पाएँगे, नकारात्मक कुछ भी नहीं।’’

Swami Vivekananda Thoughts

Swami Vivekananda Quotes

1.संभव की सीमा जानने का एक ही तरीका है, असंभव से भी आगे निकल जाना।

2.उठो मैरे शेरों, इस भ्रम को मिटा दो कि तुम निर्बल हो। तुम एक अमर आत्मा हो, स्वछन्द जीव हो,धन्य हो, सनातन हो। तुम तत्व नहीं हो, न ही शरीर हो। तत्व तुम्हारा सेवक है, तुम तत्व के सेवक नहीं हो।

3.ब्रहमाड की शाक्तिया पहल से हमारी हैं, वो हम ही हैं जो ऑँखों पर हाथ रख लेते हैं और फिर रोते हैं कि कितना अन्धकार है।

4.किसी दिन जब आपके सामने कोई समस्या न आए तो आप सुनिश्वित हो सकते हैं। कि आप गलत मार्ग पर चल रहे हैं।
5.उठो, जागो और तब तक न रुको जब तक कि लक्ष्य प्राप्त न हो जाए।

6.दिन में आप एक बार स्वयं से बात करें अन्यथा आप एक बेहतरीन इंसान से मिलने का मौका चूक जाएँगे।

7.दुनिया मज़ाक करे या तिरस्कार, उसकी परवाह किये बिना मनुष्य को अपना कर्तव्य करते रहना चाहिए।

8.किसी की निंदा न करें अगर आप मदद के लिए हाथ बढा सकते हैं, तो ज़रूर बढायें। अगर नहीं बढा सकते तो अपने दोनों हाथ जोडिये अपने भाइयों को आशीर्वाद दीजिये और उन्हें उनके मार्ग पर जाने दीजिए।

विवेकानंद के अनमोल विचार

Swami Vivekananda Quotes9.एक समय में एक काम करो और ऐसा करते वक्त अपनी पूरी आत्मा उसमे डाल दो और बाकी सब भूल जाओ।

10.एक विचार लो,उस विचार को अपना जीवन बना लो । उसके बारे में सोचो, उसके सपने देखो उस विचार को जिओ। अपने मस्तिष्क,मासपेशियों, नसों, शरीर के हर हिस्से को उस विचार में डूब जाने दो और बाकी सभी विचारों को किनारे पर रख दो यही सफल होने का राज़ है।

11.प्रसत्रता अनमोल खज़ाना है, छोटी छोटी बातों पर उसे लुटने न दें।

12.स्वतंत्र होने का साहस करो जहाँ तक तुम्हारे विचार जाते हैं वहां तक जाने का साहस करो और उन्हें अपने जीवन में उतारने का साहस करो।

13.प्रेम विस्तार है, स्वार्थ संकुचन है, इसलिए प्रेम जीवन का सिद्धान्त है। वह जो प्रेम करता है, जीता है। वह जो स्वार्थी है, मर रहा है। इसलिए प्रेम के लिए प्रेम करो क्यंकि जीने का एकमात्र यही सिद्धान्त है। वैसे ही जैसे कि तुम जीने के लिए सांस लेते हो।

14.शक्ति जीवन है,निर्बलता मृत्यु है। विस्तार जीवन है,संकुचन मृत्यु है। प्रेम जीवन है, द्वेष मृत्यु है।

15.हम जो बोते हैं वो काटते हैं। हम स्वयं अपने भाग्य के निर्माता हैं। हवा बह रही है। वो जहाज़ जिनके पाल खुले हैं, इसे टकराते हैं। और अपनी दिशा में आगे बढ़ते हैं। पर जिनके पाल बंधे हैं वो हवा को पकड़ नहीं पाते। क्या यह हवा की गलती है ?हम खुद अपना भाग्य बनाते हैं।

16.कभी मत सोचिये कि आत्मा के लिए कुछ असंभव है। ऐसा सोचना सबसे बड़ा विधर्म है। अगर कोई पाप है तो वो यही है,ये कहना कि मैं निर्बल हूँ या अन्य निर्बल हैं।

Vivekananda Quotes


17.हम वो हैं जो हमारी सोच ने हमें बनाया है। इसलिए इस बात का ध्यान रखिये कि आप क्या सोचते हैं। शब्द गौण हैं, विचार रहते हैं, वे दूर तक यात्रा करते हैं।

18.कुछ मत पूछो बदले में कुछ मत मांगो |जो देना है वो दो, वो तुम तक वापस आएगा पर उसके बारे में अभी मत सोचो।

19.धन्य है वो लोग जिनके शारीर दूसरों की सेवा करने में नस्ट हो जाते हैं।

20.जिस क्षण मैंने यह जान लिया था कि भगवान हर एक मानव शरीर रूपी मंदिर में विराजमान है। जिस क्षण मैं हर व्यक्ति के सामने श्रद्धा से खड़ा हो गया, और उसके भीतर भगवान को देखने लगा उसी क्षण मैं बन्धनों से मुक्त हो गया। हर वो चीज़ जो बांधती है, वह नस्ट हो गई और मैं स्वतंत्र हो गया।

21 .दिल और दिमाग में अगर टकराव हो तो दिल की सुनो।

22.मस्तिष्क की शक्ति सूर्य की किरणों के सामान है,जब वो केन्द्रित होती है तो चमक उठती है।

23.जब लोग तुम्हे गालिया दे तो तुम्हे उन्हें आशीर्वाद देना चाहिए, सोचो तुम्हारे झूठे दंभ को बाहर निकालकर वो तुम्हारी कितनी मदद कर रहे हैं।

24.जीवन में ज्यादा रिश्ते होना ज़रूरी नहीं है। पर जो रिश्ते हैं, उनमे जीवन होना ज़रूरी है।

Swami Vivekananda Bani

swami vivekananda images
25.भय और अधूरी इच्छाएं ही समस्त दुखों का मूल हैं।

26.ज़िन्दगी बहुत छोटी है। दुनियां में किसी भी चीज़ का घमंड अस्थाई है, पर जीवन केवल वही जी रहा है जो दूसरों के लिए जी रहा है। बाकी सभी जीवित से अधिक मृत हैं।

27.जो अग्नि हमें गर्मी देती है, हमे नस्ट भी कर सकती है। ये अग्नि का दोष नहीं है।

28.किसी मकसद के लिए खड़े हों तो एक पेड़ की तरह। गिरो तो एक बीज की तरह। ताकि दोबारा खड़े होकर उसी मकसद के लिए जंग कर सको।

29.एक नायक बनो और सदैव कहो “मुझे किसी का डर नहीं है।

जरूर पढ़े:-

1.Sandeep Maheshwari Quotes । संदीप माहेश्वरी अनमोल विचार

2.Sadhguru Quotes । सदगुरु जी के अनमोल विचार

3.Anmol Vachan In Hindi । अनमोल वचन

4.Chanakya Niti in Hindi । चाणक्य नीति

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here