शेर की चाल । बंदर के पूर्बज । Story For Kids In Hindi

0
story-for-kids-in-hindi
story-for-kids-in-hindi

Story For Kids In Hindi

1.शेर की चाल

एक जंगल में चार बैल रहते थे। उनमें गहरी मित्रता थी । शेर जब भी उन चारों को देखता तो यही सोचता, ‘कहीं मुझे कोई बैल अकेला मिल जाए तो मैं उसे मारकर खा जाऊँ।’ शेर की यह इच्छा कभी पूरी नहीं हुई, क्योंकि चारों हमेश झुंड बनाकर रहते थे।उनके बड़े-बड़े सींग देखकर शेर दूर से ही जाता था। वह यह बात भली-भाँति समझ गया था कि चारों के साथ रहते तो वह उनका सामना नहीं कर सकता। इसलिए वह कोई ऐसी योजना सोचने लगा जिससे उनकी मित्रता तोड़ी जाए। एक दिन वह एक बैल के पास गया और उससे बोला, “Story For Kids In Hindi

“तुम्हारे तीनों मित्र कहते हैं कि तुम सबसे निर्बल और मूर्ख हो। ” यह सुनकर बैल को बहुत बुरा लगा और उसने दूसरे बैलों से बोलना छोड दिया। शेर ने बाकी तीनों को भी इसी तरह भड़काया। चारों आपस में नाराज हो गए। तब शेर ने एक दिन एक बैल पर हमला कर दिया, पर बाकी बैल तुरंत उसकी सहायता को आ पहुँचे और उसे खदेड़ दिया। जब पहले बैल ने उनको धन्यवादर दिया तो वे बोले, “हम मूर्ख नहीं हैं, जो शेर की चाल में आज जाते।।”

शिक्षा : एकता में ही बल है।

Story For Kids In Hindi

story-for-kids-in-hindi
Story for kids in Hindi

2.बंदर के पूर्बज

एक बंदर और लोमड़ी में अच्छी दोस्ती थी। वे दोनों अपना अधिकतर समय एक-दूसरे के साथ बिताते थे। वे साथ-साथ खाना तलाशते, खेलते, घूमते और खूब सारी बातें करते। एक दिन वे दोनों घूमते-घूमे कब्रिस्तान जा पहुँचे । बदर वहाँ पर रुक गया तो लोमड़ी ने पूछा, ” दोस्त। तुम रुक क्यों गए” बंदर बोला, ‘ दोस्त।

मुझे रोना आ रहा है। न जाने इन कब्रों के नीचे दफनएगए कितने ही आदमियों ने मेरे पूर्वजों की सेवा की थी।” लोमड़ी ने तुरंत कहा, अच्छा ैसे भी तुम मुझे इन कब्रों के बारे में कोई भी कहानी सुनाओगे तो मुझे मानना ही पड़ेगा। अब बेचारे मरे हुए लोग तो उठकर सच्चाई नहीं बताने वाले हैं। हैं न।'” यह सुनकर बंदर चुप रह गया।

शिक्षा : हाजिरजवाबी एक अ्छा गुण है।

 

जरूर पढ़े:-

1.किसान और उसके चार बेटे । दुष्टों का स्वभाब

2.भगबान हर्मिज तथा एक इंसान । डरपोक व्यक्ति

3.लोमड़ी और लकड़हारा । पूँछकटी लोमड़ी

4.कैसे बटे शिकार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here