पिता की परेशानी । बच्चों की सरारत । Short Stories in Hindi

0
short stories in hindi
short stories in hindi

Short stories in hindi

1.पिता की परेशानी

एक व्यक्ति की दो बेटियाँ थीं। बडी बेटी का विवाह माली के साथ हुआ था, जबकि द्सरी बेटी एक कुम्हार के साथ ब्याही थी। एक दिन वह व्यक्ति अपनी छोटी बेटी से मिलने गया। उसने जब बेटी का हालचाल पूछा तो वह बोली, ‘‘पिताजी ! वैसे तो सब ठीक है, बस एक समस्या है। “Short Stories in Hindi

बहुत अधिक वर्षा होने के कारण बर्तन देर से सूखते हैं। आप कुपा करके भगवान से प्रार्थना करें कि खूब गर्मी पडे, ताकि हमारे बर्तन आसानी से सूख जाएँ।” इसके बाद वह व्यक्ति अपनी बड़ी बेटी से मिलने गया। उसने बेटी से पूछा, ‘‘कहो, बेटी। कैसी हो, कोई परेशानी तो नहीं है?

” वह बोली, “पिताजी। मैं खुश हूँ। पर आजकल गर्मी बहुत पड़ रही है। इस कारण हमारे पेड़-पौधे गर्मी और पानी न मिले से सुख रहे हैं। आप श्वर से प्रार्थना करें कि वह खूब बारिश करें, ताकि हमारा बगीचा लहलहाने लगे।”

पिता परेशानी में पड़ गया कि क्या करे। एक बेटी चाहती है कि बारिश न हो और दूसरी चाहती है कि बारिश हो। किसकी बात माने।

शिक्षा : एक ही चीज किन्हीं दो लोगों के लिए अलग-अलग महत्व रखती है।

2.बच्चों की सरारत

short stories for kids in hindi
Short stories for kids in Hindi

गर्मी की छुट्टियाँ थीं। बच्चे बैठै-बैठे ऊब रहे थे कि एक बच्चे ने सलाह दी, ‘‘चलो, तालाब पर चलकर खेलते हैं। ” सबको उसकी सलाह पसंद आई और वे तालाब की ओर चल पड़े। तालाब में बहुत से मेंठक रहते थे और बच्चे अक्सर उन मेंढकों को परेशान किया करते थे।

उस दिन भी उन्होंने खूब सारे पत्थर इकट्ठे किए और किनारे बैठकर तालाब में पत्थर फेंकने लगे। मेंठक बेचारे पत्थरों से बचने के लिए कभी किनारे पर आते तो कभी कृदकर तालाब में चले जाते। बच्चों की इस शरारत से मेढकों में हड़कंप मच गया।

तभी एक समझदार मेंढक तालाब से निकलकर बच्चों के पास आकर बोला, ‘ तालाब में पत्थर फेंकना बंद करो। तुम्हें जिस खेल में मजा आ रहा है, उससे हम मेंढक घायल हो सकते हैं। और मर भी सकते हैं।’ बच्चों की समझ में उस मेंढक की बात आ गई और उन्होंने तालाब में पत्थर फेंकना बंद कर दिया।

शिक्षा : अपनी खुशी के लिए द्रसरों को परेशान करना उचित नहीं है।

जरूर पढ़े:-

1.कछुआ और हंस । Panchatantra Story In Hindi

2.सियार की हिम्मत । Animal Story in Hindi

3.देवी की पूजा । जंगली भेड़िया । Short Story in Hindi

4.दही वाला की सफलता। Hindi Kahaniyan For Kids

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here